World No Tobacco Day 2024: धूम्रपान की आदत खराब,जाने इतिहास और इस साल की थीम

नई दिल्ली – धूम्रपान सेहत के लिए हानिकारक है. हर एक सिगरेट के डिब्बे पर यह लिखा होता है। लेकिन इस वार्निंग के बाद भी लोग धड़ल्ले से सिगरेट का सेवन करते हैं. स्मोकिंग के कारण लोग कई तरह की गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं. इससे होने वाले फेफड़ों की बीमारियों में क्रोनिक ब्रोंकाइटिस और फेफड़ों के कैंसर शामिल हैं.

हर साल 31 मई को वर्ल्ड नो टोबैको डे

दुनिया भर में हर साल 31 मई को वर्ल्ड नो टोबैको डे या एंटी-टोबैको डे मनाया जाता है. हिंदी में इसे विश्व तंबाकू निषेध दिवस या तंबाकू विरोधी दिवस कहते हैं. हर कोई जानता है कि तंबाकू खाना उनकी सेहत को कितना नुकसान पहुंचा सकता है, लेकिन इसके बावजूद लोग इसके सेवन से कभी परहेज नहीं करते. इसलिए, तंबाकू विरोधी दिवस पर लोगों को जागरूक करने, तंबाकू को छोड़ने और कभी हाथ नहीं लगाने के लिए जागरूक किया जाता है. आइए, जानते हैं कि तंबाकू विरोधी दिवस का इतिहास, महत्व और इस साल यानी 2024 की थीम क्या है?

वर्ल्ड नो टोबैको डे क्या है?

हर साल 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जाता है। इसका मकसद तम्बाकू के इस्तेमाल से होने वाले हेल्थ प्रॉब्लम्स के बारे में जागरुकता फैलाना है। इस दिन संयुक्त राष्ट्र समेत कई वैश्विक संगठन मिलकर दुनिया भर तम्बाकू के इस्तेमाल को कम कैसे किया जाए इसपर नई-नई रणनीतियां तैयार करते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक हर साल दुनिया भर में लगभग 3.5 मिलियन हेक्टेयर जमीन तम्बाकू उगाने के लिए इस्तेमाल में ली जाती है, जिसकी वजह से प्रति वर्ष 200,000 हेक्टेयर जंगलों से पेड़ों की कटाई होती है.

13 से 15 वर्ष की उम्र के बच्चों पर बढ़ रहा खतरा

युवाओं में धूम्रपान का प्रचलन बना हुआ है और कई देशों में यह बढ़ रहा है. 13 से 15 वर्ष की आयु के 38 मिलियन से अधिक बच्चे किसी न किसी रूप में तंबाकू का इस्तेमाल कर रहे हैं. साल 2022 में, 15 से 24 साल के बच्चों के बीच पॉपुलर टीवी और वेब शो में तंबाकू वाले विजुअल्स में 110 फीसदी की वृद्धि हुई, जो अक्सर धूम्रपान को ग्लैमरस और कूल के रूप में दिखाते हैं. ट्रुथ इनिशिएटिव के अनुसार, स्क्रीन पर धूम्रपान की तस्वीरें देखने पर युवाओं में स्मोकिंग शुरू करने की संभावना तीन गुना तक बढ़ जाती है.

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2024 की थीम ( Anti-Tobacco Day Theme)

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2024 का विषय या उसकी थीम “Protecting children from tobacco industry interference यानी तंबाकू उद्योग की दखल से बच्चों की रक्षा करना” है ताकि भविष्य की पीढ़ियों की रक्षा की जा सके और यह सुनिश्चित किया जा सके कि तंबाकू के इस्तेमाल में गिरावट जारी रहे. इस साल, तंबाकू उद्योग के युवाओं को टारगेट कर बनाए गए मार्केटिंग के तरीकों की चिंता बढ़ाने वाली प्रवृत्ति की ओर ध्यान दिया गया है.

वर्ल्ड नो टोबैको डे का इतिहास क्या है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 1987 में तम्बाकू के इस्तेमाल को नियंत्रित करने पर जोर देने के लिए संकल्प लिया। इसके बाद सबसे पहले वर्ल्ड नो टोबैको डे 31 मई, 1988 को मनाया गया। पहले साल की थीम थी “तम्बाकू या स्वास्थ्य: स्वास्थ्य चुनें।”

The post World No Tobacco Day 2024: धूम्रपान की आदत खराब,जाने इतिहास और इस साल की थीम appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment