Lok Sabha Elections 2024 : दिल्ली कांग्रेस की मुश्किले बढ़ी ,2 पूर्व विधायकों ने पार्टी से दिया इस्तीफा

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. दिल्ली की दो लोकसभा सीटों के पर्यवेक्षकों नीरज बसोया और नसीब सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. दोनों नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को लिखे अलग-अलग पत्रों में पार्टी को छोड़ने के लिए कांग्रेस के आप गठबंधन को मुख्य रूप से जिम्मेदार ठहराया है.पार्टी से दो इस्तीफे ऐसे समय में आए हैं जब वरिष्ठ कांग्रेस नेता अरविंद सिंह लवली ने केंद्रीय नेतृत्व के साथ मतभेदों के चलते दिल्ली इकाई प्रमुख पद से इस्तीफा दे दिया है. दिल्ली में 25 मई को लोकसभा चुनाव हैं.

नीरज बसोया ने कही ये बात

पूर्व विधायक और पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट के पार्टी पर्यवेक्षक नीरज बसोया ने कहा, “दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ पार्टी के गठबंधन से व्यथित होकर मैं आपको यह पत्र भेज रहा हूं. मैंने विनम्रतापूर्वक कहा है कि गठबंधन दिल्ली कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए दैनिक आधार पर बड़ी शर्मिंदगी ला रहा है. मेरा मानना ​​है कि एक स्वाभिमानी पार्टी नेता के तौर पर मैं अब पार्टी से नहीं जुड़ा रह सकता.”

Delhi: Former Congress MLA Nasseb Singh resigns from the primary membership of the party

He writes, “Today You have appointed Davinder Yadav as DPCC Chief. He as AICC (In-Charge Punjab) has run a campaign in Punjab solely based on attacking Arvind Keiriwal’s false agenda and… https://t.co/o5zgA50l7e pic.twitter.com/PrA5zxa5NI

— ANI (@ANI) May 1, 2024

बसोया ने पत्र में कहा, “मैं पार्टी के सभी पदों और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा देता हूं. पिछले 30 वर्षों में सभी अवसर देने के लिए मैं सोनिया गांधी जी को धन्यवाद देता हूं.” पूर्व विधायक और उत्तर पश्चिम दिल्ली के लिए पार्टी पर्यवेक्षक नसीब सिंह ने देवेंद्र यादव को दिल्ली कांग्रेस प्रमुख नियुक्त किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की है.

नीरज बसोया का दावा, कांग्रेस में अपमानित कर रहे थे महसूस

नीरज बसोया ने अपने इस्तीफे में कहा, ‘आम आदमी पार्टी के साथ हमारा जारी गठबंधन बेहद अपमानजनक है क्योंकि AAP पिछले 7 वर्षों में कई घोटालों से जुड़ी रही है. AAP के टॉप 3 नेता अरविंद केजरीवाल, सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया पहले से ही जेल में हैं. AAP पर दिल्ली शराब घोटाला, दिल्ली जल बोर्ड घोटाले जैसे गंभीर आरोप लगे हैं.’ पूर्व विधायक ने कहा कि AAP के साथ गठबंधन करके ऐसा प्रतीत होता है कि कांग्रेस पार्टी ने केजरीवाल के नेतृत्व वाली पार्टी को “क्लीन चिट दे दी है और AAP के विकास के भ्रामक प्रचार की सराहना करती है. मैं अब ऐसे किसी भी प्रयास का हिस्सा नहीं बन सकता.

आसिफ मोहम्मद खान ने लवली पर लगाया था ये आरोप

वहीं, अरविंदर सिंह लवली के कांग्रेस की दिल्ली इकाई के प्रमुख पद से इस्तीफा देने के बाद सियासी पारा बढ़ गया था. अपने फैसले की घोषणा करने के कुछ घंटों बाद लवली ने कहा था कि उन्होंने केवल अपना पद छोड़ा है और किसी अन्य राजनीतिक दल में शामिल नहीं हो रहे हैं. उन्होंने ये सफाई कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान ने दावे पर दी थी. खाने ने कहा था कि बीजेपी पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से हर्ष मल्होत्रा की जगह लवली को मैदान में उतारेगी.

लवली के इस्तीफे के बाद से कांग्रेस के समक्ष असहज स्थिति

लवली के इस्तीफे के बाद से कांग्रेस के समक्ष असहज स्थिति बनी हुई है। हालांकि, कांग्रेस के तीनों उम्मीदवार आप को साधने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। उत्तर पश्चिम दिल्ली क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार उदित राज ने लवली के बयान का कड़ा विरोध किया है। उनका कहना है कि लवली के त्याग पत्र के बाद अब पार्टी खड़ी होगी। वे अपने चहेते लोगों को आगे करने में लगे हुए थे।

कांग्रेस व आप के नेताओं की संयुक्त बैठक

वहीं, उत्तर पूर्व दिल्ली क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार कन्हैया कुमार दिल्ली सरकार की नीतियों की तारीफ कर रहे हैं और प्रचार सामग्री में आप नेताओं के फोटो भी प्रकाशित करा रहे हैं, जबकि चांदनी चौक क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार जयप्रकाश अग्रवाल आप नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। इसके अलावा कांग्रेस व आप के नेताओं की संयुक्त बैठक भी कराई है।

The post Lok Sabha Elections 2024 : दिल्ली कांग्रेस की मुश्किले बढ़ी ,2 पूर्व विधायकों ने पार्टी से दिया इस्तीफा appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment