Lok Sabha Elections 2024 : अमित शाह ने किया बड़ा ऐलान,’पांच साल के अंदर देशभर में लागू होगा यूसीसी’

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की वोटिंग से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने UCC और वन नेशन-वन इलेक्शन पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी सत्ता में लौटी तो विचार-विमर्श के बाद अगले पांच सालों के भीतर पूरे देश में समान नागरिक संहिता लागू किया जाएगा.अमित शाह ने समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में यह बात कही. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अपने अगले कार्यकाल में ‘एक देश, एक चुनाव’ को लागू करेगी क्योंकि अब समय आ गया है कि देश में एक साथ चुनाव कराए जाएं. उन्होंने आगे कहा कि एक साथ चुनाव कराने से लागत भी कम होगी.

देश में लागू होगा UCC

अमित शाह ने कहा, “देश की राज्य विधानसभाओं और संसद को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए और एक कानून बनाना चाहिए. इसीलिए हमने अपने संकल्प पत्र में लिखा है कि बीजेपी का लक्ष्य पूरे देश के लिए समान नागरिक संहिता लागू करना है. अगले पांच वर्षों के दौरान इसे लागू किया जाएगा.”

क्या बदलेगा चुनाव का समय?

अमित शाह ने भीषण गर्मी में चुनाव कराए जाने पर भी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, “हम इस पर विचार कर सकते हैं. अगर हम एक चुनाव समय से पहले करा लें तो ऐसा किया जा सकता है और ऐसा किया जाना चाहिए. यह छात्रों की छुट्टियों का समय भी है. इससे बहुत सारी समस्याएं भी पैदा होती हैं. समय के साथ लोकसभा चुनाव धीरे-धीरे गर्मियों में स्थानांतरित हो गए.”

एक देश-एक चुनाव को लेकर भी किया बड़ा दावा

उन्होंने कहा कि हम एक देश, एक चुनाव के लक्ष्य को हासिल करने के लिए भी हरसंभव प्रयास करेंगे. इस पर भी चर्चा होनी चाहिए. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने रामनाथ कोविंद समिति बनाई है. मैं भी इसका सदस्य हू. इसकी रिपोर्ट सौंप दी गई है. अब समय आ गया है कि देश में एक साथ चुनाव कराए जाएं.”

यूसीसी लागू करना हमारी जिम्मेदारी

शाह ने कहा ‘समान नागरिक संहिता हम पर एक जिम्मेदारी है, जिसे हमारे संविधान निर्माता हम पर, हमारी संसद पर और राज्य विधानसभाओं पर छोड़कर गए हैं। संविधान सभा ने हमारे लिए जो मार्गदर्शक सिद्धांत तय किए थे, उनमें समान नागरिक संहिता भी शामिल है। यहां तक कि उस समय भी कानूनी विशेषज्ञों जैसे केएम मुंशी, राजेंद्र बाबू, अंबेडकर जी ने कहा था कि एक धर्मनिरपेक्ष देश में धर्म के आधार पर कानून नहीं होने चाहिए। समान नागरिक संहिता होनी चाहिए।’

बीजेपी एजेंडे में 1950 से ही है समान नागरिक संहिता’

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी ने उत्तराखंड में एक प्रयोग किया है, जहां उसकी बहुमत की सरकार है, क्योंकि यह राज्य और केंद्र का विषय है. यूसीसी 1950 के दशक से ही बीजेपी के एजेंडे में रही है और हाल ही में इसे बीजेपी शासित उत्तराखंड में लागू किया गया है. उन्होंने कहा कि मेरा मानना ​​है कि समान नागरिक संहिता एक बहुत बड़ा सामाजिक, कानूनी और धार्मिक सुधार है. उत्तराखंड सरकार की ओर से बनाए गए कानून की सामाजिक और कानूनी जांच होनी चाहिए. धार्मिक नेताओं से भी सलाह ली जानी चाहिए.

‘एक देश एक चुनाव’ भी अगले कार्यकाल से ही लागू करने की तैयारी

एक देश एक चुनाव को लेकर पूछे गए सवाल पर अमित शाह ने कहा ‘पीएम मोदी ने रामनाथ कोविंद समिति का गठन किया था। मैं भी उसका सदस्य था। यह रिपोर्ट जमा कर दी गई है और अब समय भी आ गया है, जब देश में चुनाव एक साथ कराए जाएं।’ उन्होंने कहा कि अगले पांच वर्षों में ही इसे लागू करने की कोशिश की जाएगी। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा एक साथ चुनाव कने से चुरानाव की लागत भी कम होगी। इन आम चुनाव में मतदाता भीषण गर्मी से परेशान हैं और इसका असर मतदान प्रतिशत पर भी पड़ा है। ऐसे में क्या चुनाव गर्मी के बजाय सर्दियों के मौसम में कराए जा सकते हैं? इसके जवाब में शाह ने कहा कि हम इस पर विचार कर सकते हैं। ऐसा हो सकता है। अभी स्कूली छात्रों की छुट्टियां चल रही हैं, जिसके चलते काफी परेशानी होती है। समय के साथ चुनाव होते होते गर्मियों के मौसम में होने लगे हैं।

The post Lok Sabha Elections 2024 : अमित शाह ने किया बड़ा ऐलान,’पांच साल के अंदर देशभर में लागू होगा यूसीसी’ appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment