iPhone का ये फीचर है खास,आईफोन के लिए एपल ने लॉन्च किया फीचर

नई दिल्ली – Apple ने iOS 17.5 अपडेट के साथ एक नए फीचर को पेश किया है जिसे रिपेयर स्टेट कहा जाता है। इसकी मदद से आईफोन सर्विसेज में बदलाव लाने का मौका मिलता है। हालांकि इस बात की कोई गांरटी नहीं है कि इसे फाइनल मॉडल में लाया जाएगा या नहीं। आइये जानते हैं कि ये क्या है और कैसे काम करता है। आइये इसके बारे में जानते हैं।

फीचर बीटा टेस्टर्स के लिए आंशिक रूप

इस सुविधा को 9to5Mac द्वारा iOS 17.5 बीटा 4 के कोड के भीतर देखा गया था, जो मंगलवार को उन उपयोगकर्ताओं के लिए शुरू हुआ, जिन्होंने बीटा प्रोग्राम में नामांकन किया है। कहा जा रहा है कि यह फीचर बीटा टेस्टर्स के लिए आंशिक रूप से काम कर रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, रिपेयर स्टेट फीचर संभवतः उपयोगकर्ताओं को अपने डिवाइस को ट्रैक करने की अनुमति देने के लिए जोड़ा गया था, भले ही इसकी मरम्मत की जा रही हो।

फाइंड माय डिवाइस को बंद रखा जाता है

समय में जब आईफोन को रिपेयर के लिए दिया जाता है तो फाइंड माय डिवाइस को बंद रखा जाता है। एपल ने भी अपने इस फीचर की जानकारी सपोर्ट पेज पर दी है। नया फीचर डिफॉल्ट होगा यानी इस बंद नहीं किया जा सकेगा। यह ऑन ही रहेगा।आपको याद दिला दें कि एपल ने iOS 17.3 के साथ स्टोलेन डिवाइस प्रोटेक्शन जारी किया था। इस फीचर को ऑन करने के बाद यदि डिवाइस किसी अनजान लोकेशन पर जाती है तो अपने आप लॉक हो जाएगी और अनलॉक करने के लिए पासकोड की जरूरत होगी।

फाइंड माई को बंद करना

आपको बता दें कि यूजर्स को फाइंड माई को अक्षम करने के लिए सेटिंग्स मेनू के माध्यम से नेविगेट करना पड़ता था, जो डिवाइस के ऑनरशिप की पुष्टि करने और रिपेयरिंग के साथ आगे बढ़ने के लिए एपल या अधिकृत रिपेयरिंग सेंटर के लिए एक शर्त थी।iOS 17.5 के जुड़ने के साथ यह स्टेप अब जरूरी नहीं है। यह फिलहाल अज्ञात है कि यह फीचर स्टेबल वर्जन में आएगा या नहीं।

रिपेयर स्टेट मोड कैसे करता है काम

9to5Mac में बताया गया कि रिपेयर स्टेट मोड को iOS 17.5 बीटा 4 के कोड के भीतर खोजा गया है। फिलहाल ये फीचर बीटा में पहले से ही उपलब्ध है। यह iPhone मरम्मत के लिए प्रोटोकॉल में बदलाव कर रही है।पहले, यूजर्स को स्टोलन डिवाइस प्रोटेक्शन के कारण देरी का सामना करना पड़ता था। जिसे iOS 17.3 में सुरक्षा उपाय के रूप में पेश किया गया ।इसने फाइंड माई सहित संवेदनशील सेटिंग्स को बदलने में समय के कारण देरी होती थी और इस कारण यूजर्स को रिपेयरिंग सेंटर पर लगभग 1 घंटे तक इंतजार करना पड़ता था।हालांकि, रिपेयर स्टेट के साथ यूजर अब अपने एपल आईडी और पासवर्ड की मदद से सीधे अपने ऑनरशिप को प्रमाणित कर सकते हैं, जिससे तकनीशियनों के लिए वेरिफिकेशन प्रोसेस सरल हो जाएगी।इसके अलावा स्टोलन डिवाइस प्रोटेक्शन से भी समय नहीं लगता है, जिससे यूजर तुरंत मरम्मत शुरू कर सकते हैं।

The post iPhone का ये फीचर है खास,आईफोन के लिए एपल ने लॉन्च किया फीचर appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment