Goldy Brar Killed : गोल्डी बराड़ की अमेरिका में हत्या की अटकलें, सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस का था मास्टरमाइंड

मुंबई – गैंगस्टर गोल्डी बराड़ की अमेरिका में मौत हो गई है, मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है. गोल्डी बराड़ पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मुख्य आरोपी था. दावा है कि उसकी मौत अमेरिका मंगलवार (30 अप्रैल) को शाम 5:25 बजे हुई है. गोल्डी की हत्या की जिम्मेदारी उसकी विरोधी गैंग डल्ला-लखबीर ने ली है.हालांकि, खबर लिखने तक उसकी मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई.

कौन था गोल्डी बरार?

गोल्डी बरार का जन्म 1994 में पंजाब के मुक्तसर साहिब में हुआ था और वे पुलिस बैकग्राउंड वाले परिवार से थे.हालांकि उनके परिवार को उम्मीद थी कि वे आगे की पढ़ाई करेंगे, लेकिन गोल्डी ने एक अलग रास्ता अपनाया। सतविंदरजीत सिंह के नाम से भी जाने जाने वाले गोल्डी ने बीए की डिग्री ली और वह कनाडा में रहते थे, और वहीं से वह अपना गैंग खासतौर पर पंजाब में चलाते थे।गोल्डी बराड़ के चचेरे भाई गुरलाल बराड़ की पिछले साल चंडीगढ़ में एक नाइट क्लब के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. बिश्नोई के करीबी माने जाने वाले गुरलाल कथित तौर पर युवा कांग्रेस नेता गुरलाल पहलवान की हत्या के बदले में बिश्नोई गिरोह का निशाना बन गए थे. इन घटनाओं के बाद, गोल्डी कथित तौर पर 2021 में कनाडा भाग गया। वह पहली बार 2017 में स्टूडेंट वीजा पर कनाडा गया था.

कई हत्याओं की ले चुका है जिम्मेदारी

गोल्डी बराड़ का जन्म 11 अप्रैल 1994 को शमशेर सिंह और प्रीतपाल कौर के घर हुआ. वह पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब का रहने वाला है. गोल्डी बराड़ के पिता पुलिस में कार्यरत थे. गोल्डी बराड़ के खिलाफ नेताओं का धमकी भरे फोन, फिरौती की मांग, कई हत्याओं की जिम्मेदारी लेने को लेकर मामले दर्ज हैं.गुरलाल बराड़ जो गोल्डी बराड़ का चचेड़ा भाई था, उसकी हत्या के बाद गोल्डी ने अपराध का रास्ता चुना और कई गैंगस्टर्स के संपर्क में आने लगा. कनाडा के ब्रैम्पटन में रहने वाला गोल्डी बराड़ खालिस्तानी आतंकवादी समूह बब्जर से जुड़ा था. केंद्रीय मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसर गोल्डी बराड़ शार्प-शूटरों की आपूर्ति के अलावा सीमा पार से गोला-बारूद और विस्फोटक सामग्री की तस्करी के अलावा हत्या करने के सभी सामानों की आपूर्ति करता था.

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद उसका नाम मीडिया में चर्चा में है. हालांकि इससे पहले भी वह कई वारदात कर चुका था.चंडीगढ़ में चचेरे भाई गुरलाल बराड़ की हत्या के बाद गोल्डी बराड़ ने अपराध की दुनिया में कदम रखा. चंडीगढ़ के इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 स्थित एक क्लब के बाहर 11 अक्तूबर 2020 की रात पंजाब विश्वविद्यालय (पीयू) के छात्रनेता गुरलाल बराड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

The post Goldy Brar Killed : गोल्डी बराड़ की अमेरिका में हत्या की अटकलें, सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस का था मास्टरमाइंड appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment