वोटिंग डेटा की मांग कर रहे याचिकाकर्ता को सुप्रीम का झटका

नई दिल्ली – लोकसभा चुनाव के बीच सुप्रीम कोर्ट में बूथ वाइज वोटर्स का डेटा सार्वजनिक करने के मामले पर सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को प्रति बूथ पर पड़े कुल वोटों की जानकारी प्रकाशित करने का निर्देश देने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि चुनाव चल रहा है और बीच में दखल नहीं हो सकता है। इसके साथ ही इस मामले की सुनवाई गर्मी की छुट्टी के बाद के लिए टाल दी है।

Supreme Court posts the application along with a similar pending plea for later date.

— ANI (@ANI) May 24, 2024

याचिका पर दखल देने से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल इस याचिका पर दखल देने से इनकार कर दिया।अदालत ने कहा कि इस चरण में हम अंतरिम राहत देने के इच्छुक नहीं हैं. सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को लंबित रखा और कहा कि उचित बेंच सुनवाई करेगी।सुप्रीम कोर्ट ने याचिका दायर करने के टाइमिंग पर सवाल खड़ा किया।जस्टिस दीपांकर दत्ता ने याचिका कर्ता के वकील दुष्यंत दवे से पूछा कि चुनाव प्रक्रिया शुरू होने के बाद यह याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर क्यों की गई?जस्टिस दीपांकर दत्ता ने ADR के वकील दुष्यंत दवे से कहा, ‘हम बहुत तरह की जनहित याचिकाएं देखते हैं। कुछ पब्लिक इंटरेस्ट में होती हैं।कुछ पैसे इंटरेस्ट में होती हैं।लेकिन हम आपको ये कह सकते हैं कि आपने यह याचिका सही समय और उचित मांग के साथ दायर नहीं की है।चुनाव आयोग ने कहा कि फॉर्म 17C को स्ट्रॉन्ग रूम में रखा जाता है।आरोप लगाया गया है कि फाइनल डेटा में 5 से 6 प्रतिशत का फर्क है।यह आरोप पूरी तरह से गलत है।चुनाव जारी है और आयोग को लगातार बदनाम किया जा रहा है।चुनाव आयोग की तरफ से मनिंदर सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान लगातार आयोग को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है।

गर्मियों की छुट्टी के बाद होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कल (शनिवार) को छठे फेज का चुनाव हो जाएगा और ऐसे में चुनाव आयोग की परेशानी को हम समझ सकते हैं क्योंकि उसके लिए मैन पावर चाहिए और ग्राउंड पर स्थिति हम समझते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में एडीआर की अर्जी पर सुनवाई गर्मी की छुट्टी के बाद के लिए तय कर दी है।जस्टिस दीपांकर दत्ता की अगुवाई वाली बेंच ने कहा कि हम सीधे तौर पर अर्जी पर सुनवाई टालते हैं। सिर्फ यह टिप्पणी करते हैं कि इस स्टेज पर रिलीफ क्यों नहीं दिया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि पहली नजर में हम इस स्टेज पर रिलीफ देने के पक्ष में नहीं हैं। जस्टिस दत्ता ने कहा कि शनिवार को छठा फेज का चुनाव खत्म हो जाएगा। इस तरह की बातों को अमल में लाने के लिए मैनपावर चाहिए। हम ग्राउंड की स्थिति को लेकर बेहद सजग हैं और हम समझते हैं कि इस मामले को गर्मी की छुट्टियों के बाद सुनी जाए। हम छुट्टियों के बाद इस मामले को सुनेंगे।

The post वोटिंग डेटा की मांग कर रहे याचिकाकर्ता को सुप्रीम का झटका appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment