भूपेश बघेल संभालेंगे राहुल गांधी के चुनाव की कमान,गहलोत-बघेल को भी बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली – तीसरे चरण में कल मंगलवार के छत्तीसगढ़ की सात लोकसभा सीटों पर चुनाव कराये जाएंगे। इस बीच कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को एक और बड़ी जिम्मेदारी दी है। कांग्रेस ने बघेल को रायबरेली लोकसभा सीट का एआईसीसी वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। अब भूपेश बघेल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनावी तैयारियों की कमान संभालेंगे। इसी के साथ ही कांग्रेस ने अशोक गहलोत को अमेठी का आईसीसी वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

भारतराजनीतिप्रियंका गांधी खुद संभालेंगी अमेठी और रायबरेली में

कांग्रेस पार्टी की पारंपरिक सीट मानी जाने वाली अमेठी और रायबरेली को लेकर पार्टी लगातार प्लानिंग कर रही है। पार्टी ने लंबे इंतजार के बाद राहुल गांधी को रायबरेली और केएल शर्मा को अमेठी सीट से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार घोषित किया है। आपको बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अमेठी सीट पर राहुल गांधी की हार हुई थी। अब कांग्रेस पार्टी ने इन सीटों पर जीत के लिए खास प्लानिंग शुरू कर दी है। कांग्रेस ने अमेठी और रायबरेली के लिए दो राज्यों के पूर्व सीएम को भी जिम्मेदारी सौंपी है।

गहलोत-बघेल को जिम्मेदारी

कांग्रेस के लिए अमेठी और रायबरेली की सीट प्रतिष्ठा का सवाल बन गई है। पार्टी ने दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को इन दो सीटों को पर्यवेक्षक बनाया है। अमेठी से अशोक गहलोत और रायबरेली से भूपेश बघेल को पार्टी की तरफ से पर्यवेक्षक बनाकर भेजा गया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने लोकसभा चुनाव के बीच तत्काल प्रभाव से इन दोनों नियुक्ति को हरी झंडी दी है।

प्रियंका खुद देखेंगी चुनाव प्रचार

जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस इन सीटों पर कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहती। इसलिए प्रियंका गांधी वाड्रा इस बार अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस के प्रचार की कमान खुद संभालेंगी। 18 मई तक प्रियंका सिर्फ इन्हीं दो सीटों पर फोकस रखेंगी। यानी लगभग 12 दिनों तक प्रियंका गांधी इन दो सीटों के अलावा किसी और राज्य में चुनावी प्रचार के लिए नही जायेंगी।

प्रत्याशी किशोरीलाल लेकिन गांधी परिवार के लिए अहम है अमेठी

राहुल गांधी इस बार रायबरेली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी रायबरेली से तीन बार सांसद रह चुकी हैं और सोनिया गांधी भी लगातार 5 बार सांसद बन चुकी है। रायबरेली से नामांकन दाखिल करते वक्त राहुल गांधी ने कहा था कि रायबरेली और अमेठी उनके लिए अलग नहीं हैं। दोनों ही उनका परिवार हैं। अपने ट्विटर अकाउंट पर राहुल गांधी ने लिखा कि उन्हें खुशी है कि 40 वर्षों से क्षेत्र की सेवा कर रहे किशोरी लाल जी अमेठी से पार्टी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। अन्याय के खिलाफ चल रही न्याय की जंग में वे जनता से मोहब्बत और आशीर्वाद मांग रहे हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि संविधान और लोकतंत्र को बचाने की इस लड़ाई में जनता उनके साथ खड़ी है।

The post भूपेश बघेल संभालेंगे राहुल गांधी के चुनाव की कमान,गहलोत-बघेल को भी बड़ी जिम्मेदारी appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment