बैलेट पेपर और EVM को लेकर पीएम मोदी ने विपक्ष पर बोला हमला-जानें

नई दिल्लीः बिहार के चुनावी दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (PM Narendra Modi) शुक्रवार को ईवीएम (EVM) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से की गई टिप्पणी पर अपनी पहली प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना था कि बैलेट पेपर को लूट-लूटकर राज करने वाले अब ईवीएम को बदनाम कर रहे हैं।

आज दूसरे चरण का मतदान

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि आज दूसरे चरण का मतदान भी चल रहा है। ये लोकतंत्र का महापर्व है। मेरी सभी मतदाताओं से, विशेषकर युवा मतदाताओं से अपील है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में वोट डालने के लिए जाएं।उन्होंने कहा कि गुलामी के लंबे कालखंड से पहले जब बिहार समृद्ध था, तब भारत एक महाशक्ति था। आज जब भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनने के लिए चल पड़ा है, तो बिहार की भी इसमें बहुत बड़ी भूमिका है।

प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार में क्या कुछ कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के अररिया में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि अररिया और सुपौल का ये स्नेह मेरे लिए बहुत बड़ी ऊर्जा है, बहुत बड़ी शक्ति है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके इस कर्ज को उतारने के लिए मैं और ज्यादा मेहनत करूंगा और तीसरे कार्यकाल में आपके हित में, देश के हित में और ज्यादा बड़े फैसले देश लेने वाला है।

ईवीएम और बैलेट पेपर को लेकर मोदी ने दी प्रतिक्रिया

INDI गठबंधन के हर नेता ने EVM को लेकर जनता के मन में संदेह पैदा करने का पाप किया है। लेकिन आज देश के लोकतंत्र और बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान की ताकत देखिए, आज सुप्रीम कोर्ट ने मतपेटियों को लूटने का इरादा रखने वालों को ऐसा गहरा झटका दिया है कि उनके सारे सपने चूर-चूर हो गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पहली बार बोले पीएम

आज सुप्रीम कोर्ट ने साफ-साफ कह दिया है कि बैलेट पेपर वाला पुराना दौर वापस लौटकर नहीं आएगा। आज जब पूरी दुनिया भारत के लोकतंत्र की, भारत की चुनाव प्रक्रिया की, चुनाव में टेक्नोलॉजी के उपयोग की वाहवाही करती है, तब ये लोग अपने निजी स्वार्थ के लिए EVM को बदनाम करने पर लगे पड़े थे। इन्होंने लोकतंत्र के साथ लगातार विश्वासघात करने की कोशिश की है।

देश के संसाधनों पर गरीबों का हक

पीएम मोदी ने कहा कि इस देश के संसाधनों पर अगर पहला हक किसी का है तो वह मेरे देश के गरीबों, मजदूरों, किसानों और माताओं-बहनों का है। वह किसी भी जाति-धर्म का हो अगर वह गरीब है तो देश के संसाधनों पर पहला हक उनका है। कांग्रेस ने देश के हिन्दुओं के साथ भेदभाव किया। कांग्रेस के घोषणा पत्र पर मुस्लिम लीग की छाप है। यह लोग संविधान बदलना चाहते हैं। राजद और कांग्रेस का कहना है कि देश के संसाधनों पर पहला हक उनके वोटबैंक के खास लोगों का है। कांग्रेस आपके मंगलसूत्र तक एक्स-रे और गहने तक हिसाब-किताब करने की बात करते हैं। आपकी बची हुई संपति को छीनकर अपने वोट बैंक को देने की कोशिश कर रही है।

देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है

पीएम मोदी ने कहा कि बिहारवासियों से मैं पूछना चाहता हूं कि क्या आप ओबीसी के हक को लूटने देंगे? आप इनकी नजर ओबीसी के हक पर है। आने वाले समय में कांग्रेस और राजद इसी तरह से एससी-एसटी के हक को छीनने का काम करेगी। तुष्टिकरण के दल-दल में कांग्रेस और राजद इतनी धंस गई है कि यह लोग बाबा साहेब के संविधान का परवाह नहीं है। डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार में कांग्रेस ने ओबीसी कोटे पर डाका डालकर धर्म के आधार आरक्षण देने की कोशिश की थी। लेकिन, उस वक्त कोर्ट ने रोक लिया। पीएम मोदी ने कहा कि आज पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह का एक और पुराना वीडियो सामने आया, जिसमें वह कह रहे हैं कि देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है।

धर्म आधारित आरक्षण लागू करना चाहती है कांग्रेस

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस देश में धर्म आधारित आरक्षण लागू करना चाहती है। वह कर्नाटक के धर्म आधारित आरक्षण को लागू करना चाहती है। कर्नाटक में कांग्रेस ने ओबीसी समाज के 27 प्रतिशत कोटे को चोरी करने का खेल खेला है। इनके कोटे से आरक्षण काटकर पर्दे के पीछे खेल खेला है। ओबीसी समाज के आंखों में धूल झोंककर रातों-रात मुस्लिम समाज के सभी लोगों को (अमीर-गरीब) ओबीसी बना दिया।

आज कुछ लोगों के सपने टूट गए

अररिया में जन सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस और आरजेडी को आड़े हाथ लिया. उन्होंने कहा, “सुप्रीम कोर्ट ने आज जो बोला उससे कुछ लोगों के सारे सपने टूट गए. आज सर्वोच्च न्यायलय ने कह दिया है कि बैलेट पेपर दोबारा लौट कर नहीं आयेगा. कुछ लोगों ने ईवीएम को बदनाम करने की कोशिश की है. जिन लोगों ने ईवीएम को बदनाम करने की कोशिश की है उन लोगों को सुप्रीम कोर्ट ने तमाचा मारा है. आज का दिन लोकतंत्र के लिए विजय दिवस है.”

-2011 में जब दिल्ली में RJD और कांग्रेस की सरकार थी तो उस समय के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह जी की कैबिनेट ने OBC आरक्षण का हिस्सा छीनकर धर्म के आधार पर वोटबैंक को आरक्षण देने की मंजूरी दे दी थी. लेकिन, उस समय जागरूक कोर्ट ने इन्हें ऐसा करने से रोक दिया था.

-जब मैं कांग्रेस द्वारा सिर्फ मुसलमानों को प्राथमिकता दिए जाने की बात करता हूं, तो कुछ लोग आगबबूला हो जाते हैं. उनका इकोसिस्टम पिछले एक सप्ताह से मेरे बाल नोंच रहा है.

-मैं इन्हें कहना चाहता हूं कि 25 साल हो गए,आपने मुझे बहुत डराने की कोशिश की, लेकिन मैं डरा नहीं, इसलिए अब कोशिश बंद कर दो.

-आज डॉ. मनमोहन सिंह जी का एक और पुराना वीडियो सामने आया है, जिसमें फिर से वो वही कह रहे हैं कि देश के संसाधनों पर पहला हक मुसलमानों का है. ये वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस और उसके इकोसिस्टम को सांप सूंघ गया है.

-इस देश के संसाधनों पर, देश की संपत्ति पर पहला हक मेरे देश के गरीबों का, मजदूरों का, किसानों का, माताओं-बहनों का है.

-चाहे किसी भी धर्म के हों, लेकिन अगर वो गरीब हैं तो पहला हक उनका है. ये मोदी की सोच है.

The post बैलेट पेपर और EVM को लेकर पीएम मोदी ने विपक्ष पर बोला हमला-जानें appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment