बीजेपी और कांग्रेस को मिलेंगी कितनी सीटें?,फलोदी सट्टा बाजार के दावों ने फिर चौंकाया

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के लिए सातवें और आखिरी चरण के लिए कल (शनिवार) वोटिंग होगी. इससे पहले सभी के मन में एक ही सवाल है कि आखिरी इस चुनाव में किसकी जीत होगी. इस बीच राजस्थान के फलोदी जिले के सट्टा बाजार के सटोरियों का आकलन और भविष्यवाणी सामने आई है. दरअसल, फलोदी सट्टा बाजार की सटीक भविष्यवाणियों का इतिहास रहा है चाहे वो चुनाव हो या क्रिकेट मैच की भविष्यवाणी हो.

फलोदी सट्टा बाजार के दावों ने फिर चौंकाया

फलोदी सट्टा बाजार एक लंबे समय से स्थापित बाजी का बाजार है जहां चुनाव के दौरान सभी लोकसभा सीटों सहित विभिन्न आयोजनों और दावा लगाए जाते हैं.सट्टा बाजार में सट्टेबाज़ी की दरें कई कारकों के आधार पर होती है. जिसमें उम्मीदवार की लोकप्रियता, जाति-आधारित समर्थन, चुनाव प्रचार रैलियों में मतदाता समर्थन, पार्टी की ताकत और स्थिति शामिल है. मौजूदा दरें छह मतदान चरणों के बाद की संख्याओं को दर्शाती हैं, जबकि एक और चरण बाकी है.

बीजेपी गठबंधन को 304 से 306 सीटें मिल सकती है

फलोदी सट्टा बाजार की भविष्यवाणी और सट्टेबाजी का बाजार भारतीय जनता पार्टी की मजबूती का दावा कर रहा है. इसके मुताबिक बीजेपी गठबंधन को 304 से 306 सीटें मिल सकती है. वहीं कांग्रेस के लिए केवल 50 सीटों पर जितने का दावा किया जा रहा है. सट्टा बाजार के मुताबिक, यूपी में बीजेपी को 80 सीटों में से 62 से 65 सीटों पर जीत मिलने का अनुमान है.

बीजेपी का दावा

लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने दावा किया था कि बीजेपी 400 पार यानि 400 से अधिक सीटें जीतेगी. भारतीय जनता पार्टी ने देश में 370 और राम मंदिर के निर्माण के कारण यह दावा किया था.

7वें चरण के चुनाव से पहले बीजेपी के लिए सट्टा बाजार का अनुमान

अपने सटीक अनुमानों के लिए जाना जाने वाला राजस्थान के प्रसिद्ध फलोदी सट्टा बाजार की मानें तो उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव का परिणाम दोहराती हुई दिखाई दे रही है. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को प्रदेश की कुल 80 में संसदीय से 64 सीटें मिली थी. फलोदी सट्टा बाजार के मुताबिक इस बार बीजेपी को उत्तर प्रदेश में 60-65 सीट मिल सकती हैं. फलोदी सट्टा बाजार की मानें तो यूपी में बीजेपी को 2019 की बराबर सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है.

यूपी में कैसा रहेगा हाल

उत्तर प्रदेश में कम मतदान प्रतिशत के बावजूद, बीजेपी को अभी भी 80 में से 62 से 65 सीटें जीतने का अनुमान है। राष्ट्रीय स्तर पर सट्टा बाजार का अनुमान है कि भाजपा को 280 से 290 सीटें मिलेंगी। जबकि कांग्रेस 70 से 85 सीटें जीत सकती है। मीडिया रिपोर्टों और फलोदी सट्टा बाजार से संकेत मिलता है कि भाजपा का लक्ष्य यूपी की सभी 80 लोकसभा सीटों पर कब्जा करना है। कुल मिलाकर 335 से 340 सीटें जीतने का विश्वास है। अंतिम चरण में मतदान प्रतिशत में वृद्धि से भाजपा की सीटों की संख्या 30-35 सीटों तक बढ़ सकती है।

सपा के लिए क्या कहता है बाजार

वहीं फलोदी सट्टा बाजार की मानें तो उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से समाजवादी पार्टी-कांग्रेस वाले इंडिया गठबंधन को 15-20 सीटें मिलने का अनुमान है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है, लेकिन कांग्रेस भी पहले की अपेक्षा शानदार प्रदर्शन करती दिख रही है.

छठवे चरण के बाद बदले आंकड़े

13 मई को फलोदी सट्टा बाजार की तरफ से आए अनुमान में बीजेपी को 300 सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया था. वहीं कांग्रेस को केवल 40 से 42 सीटें जीतने का अनुमान था जो कि 2019 के चुनावों में मिले 52 सीटों से भी कम था. हालांकि 1 हफ्ते के बाद फलोदी सट्टा बाजार का अनुमान फिर से बदला. जैसे-जैसे चरणवार चुनाव हुआ फलोदी सट्टा बाजार का अनुमान ऊंचे नीचे होता रहा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा कई अनुमानों में 300 सीटों से नीचे आ गई. तो वहीं कांग्रेस पार्टी का आंकड़ा 70 से 85 सीटों तक पहुंच गई है. इसके बाद भी बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है, लेकिन कांग्रेस भी पहले की अपेक्षा शानदार प्रदर्शन करती दिख रही है।

कैसी रही पिछली भविष्यवाणियां

लोकसभा चुनाव से पहले, भाजपा ने दावा किया था कि वे 400 से अधिक सीटें जीतेंगे। इस अबकी बार 400 पार के दावे की एक वजह राम मंदिर का निर्माण भी बताया जा रहा था। हालांकि, फलोदी सट्टा बाजार ने उस वक्त भी बीजेपी को करीब 320 सीटें मिलने का अनुमान लगाया था।

क्या है फलोदी सट्टा बाजार?

लोकसभा चुनाव हो भला राजस्थान के फलोदी सट्टा बाजार का जिक्रा ना हो, ऐसा तो नहीं हो सकता. फलोदी सट्टा बाजार के सटोरिये देश के साथ-साथ दुनिया की राजनीतिक और खेल की गतिविधियां और बारिश, मौसम जैसे अनुमान पर अपनी नजर रखते हैं. यहां हर बात पर सट्टा लगता है. यहां के अनुमान सटीक माने जाते हैं.

फलोदी सट्टा बाजार की सटीकता

फलोदी सट्टा बाजार अपनी सटीक भविष्यवाणियों के लिए प्रसिद्ध है। जैसे-जैसे चुनाव परिणाम का दिन करीब आता है, सट्टा बाजार में गतिविधि तेज हो जाती है। इससे संभावित सरकार गठन के बारे में शुरुआती संकेत मिलते हैं। फलोदी सट्टा बाजार एक लंबे समय से स्थापित सट्टेबाजी बाजार है। यहां जहां चुनावों के दौरान सभी लोकसभा सीटों सहित विभिन्न आयोजनों पर दांव लगाए जाते हैं।

बदलती कीमतें और मार्केट डायनेमिक्स

सट्टा बाजार में सट्टेबाजी की दरों में उम्मीदवार की लोकप्रियता, अभियान रैलियों और पार्टी की ताकत सहित कई कारकों के आधार पर उतार-चढ़ाव होता है। मौजूदा दरें पांच चरणों के मतदान के बाद के परिदृश्य को दर्शाती हैं, जबकि दो और चरण शेष हैं। जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ेगा ये दरें बदल सकती हैं। सट्टेबाजी की दरें किसी उम्मीदवार की जीत या हार की संभावना, उनकी सार्वजनिक छवि, चुनावी रैलियों में देखे गए समर्थन, पार्टी की स्थिति और जाति-आधारित समर्थन से प्रभावित होती हैं।

फलोदी में मौजूदा मार्केट रेट

बीजेपी : 316-319 सीटें
300 सीट: 30-37 पैसे
310 सीट: 55-65 पैसे
320 सीट: 110-160 पैसे
325 सीट: 150-225 पैसे

कांग्रेस: 45-47 सीट

35 सीट: 28-35 पैसे

40 सीट: 35-45 पैसे

50 सीट: 130-200 पैसे

The post बीजेपी और कांग्रेस को मिलेंगी कितनी सीटें?,फलोदी सट्टा बाजार के दावों ने फिर चौंकाया appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment