बर्ड फ्लू से हुई दुनिया में पहले शख्स की मौत,WHO ने बताया आपको कितना खतरा-जानें

नई दिल्लीः बर्ड फ्लू की वजह से मैक्सिको में एक शख्स की मौत का मामला सामने आया है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी. मरने वाला व्यक्ति एवियन इंफ्लूएंजा A (H5N2) की चपेट में आया था, जिसे बर्ड फ्लू का सबसे खतरनाक वायरस माना जाता है. इससे पहले इस वायरस की वजह से बर्ड फ्लू का संक्रमण इंसानों में नहीं पाया गया था. हालांकि डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा है कि फिलहाल लोगों को H5N2 वायरस का खतरा काफी कम है और चिंता की बात नहीं है. फिर भी सावधानी बरतनी चाहिए.

यहां हुई मौत

WHO के मुताबिक जिस शख्स की बर्ड फ्लू के स्ट्रेन H5N2 से मौत हुई है, वह मैक्सिको का रहने वाला था। WHO के मुताबिक 59 साल के इस शख्स को 17 अप्रैल को बुखार, सांस लेने में परेशानी और डायरिया हुआ था। इसके बाद उसे 24 अप्रैल को मैक्सिको सिटी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां उसकी उसी दिन मौत हो गई। मौत के कारणों में बताया गया है कि इस शख्स की किडनी फेल हो गई थी। साथ ही इसे डायबिटीज के साथ हाई ब्लड प्रेशर भी था। हालांकि WHO ने यह नहीं बताया है कि यह शख्स बर्ड फ्लू वायरस की चपेट में कैसे आया।

H5N2 संक्रमण का कारण

आमतौर पर, एनिमल इन्फ्लूएंजा वायरस जानवरों में फैलते हैं, लेकिन मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकते हैं। एक इंसान संक्रमित जानवरों या दूषित वातावरण के संपर्क में आने पर इस संक्रमण का शिकार हो सकता है।डब्ल्यूएचओ के मुताबिक ओरिजिनल होस्ट के आधार पर, इन्फ्लूएंजा ए वायरस को एवियन इन्फ्लूएंजा, स्वाइन इन्फ्लूएंजा, या अन्य प्रकार के एनिमल इन्फ्लूएंजा वायरस के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है।

H5N2 बर्ड फ्लू के लक्षण

मनुष्यों में एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस संक्रमण के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर हो सकते हैं। इसके गंभीर लक्षणों में रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन हो सकता है, जो घातक भी हो सकता है। WHO के अनुसार, कंजंक्टिवाइटिस, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिंटम, एन्सेफलाइटिस और एन्सेफैलोपैथी के भी मामले सामने आए हैं। इसके अलावा बर्ड फ्लू के मुख्य लक्षणों में निम्न शामिल हैं

सिरदर्द

मांसपेशियों में दर्द

खांसी या सांस लेने में तकलीफ

बहुत तेज बुखार, गर्मी लगना या कंपकंपी होना

बर्ड फ्लू के अन्य प्रारंभिक लक्षणों में शामिल हो सकते हैं

बुखार आना

मांसपेशियों में दर्द होना

सांस लेने में परेशानी होना

आंखें लाल होना या आंखें आना

पेट से जुड़ी परेशानियां जैसे डायरिया आदि होना

सिर और छाती में दर्द होना

नाक और मसूड़ों से खून आना

ऐसे बचें बर्ड फ्लू से

बर्ड फ्लू से बचने के लिए ऐसे एरिया में जाने से बचें जहां पक्षी रहते है और पक्षियों से दूर रहें।

अगर किसी पोल्ट्री फार्म में काम करते हैं तो मुर्गियों आदि को ग्लव्स पहनकर छूएं और मास्क लगाकर रहें। नियमित रूप से सफाई करें।

पक्षी इस वायरस को अपने मल और पंख के जरिए फैलाते हैं। ऐसे में किसी भी प्रकार के पक्षी या उसके पंख को छूने से बचें

अगर चिकन खाते हैं तो उससे दूरी बनाएं या उसे अच्छे से पकाकर खाएं।

ऐसे लोगों से दूर रहें जो पोल्ट्री फार्म में काम करते हैं या पक्षियों के संपर्क में लगातार आते हैं।

किसी भी शख्स से हाथ मिलाने से बचें और कुछ भी खाने से पहले हाथ जरूर धोएं।

अगर किसी को बर्ड फ्लू से जुड़े लक्षण होते हैं तो तुरंत ही डॉक्टर से मिलें और इसका उपचार लें। जरूरत हो तो वैक्सीन भी लगवाएं।

देश में हाल ही में पक्षियों में मिले थे बर्ड फ्लू के केस

भारत में बर्ड फ्लू फैलने के मामले हाल ही में झारखंड की राजधानी रांची में सामने आए थे. इसे देखते हुए प्रशासन ने 920 पक्षियों को मार दिया था और 4300 अंडों को नष्ट कर दिया था. साथ ही राज्य के पॉल्ट्री फॉर्म को अलर्ट पर रखा गया था. इससे पहले भी भारत में पशु-पक्षियों में बर्ड फ्लू के संक्रमण कई बार सामने आ चुके हैं, लेकिन अभी तक इससे इंसानों के संक्रमित होने के केस नहीं मिले हैं, जिससे लोगों को राहत है. हालांकि डब्ल्यूएचओ की मानें तो पोल्ट्री में काम करने वाले लोगों और पशु-पक्षियों के संपर्क में रहने वाले लोगों को चौकन्ना रहना चाहिए. ऐसे लोगों को बर्ड फ्लू का सबसे ज्यादा खतरा होता है.

पक्षियों से फैलता है यह वायरस

H5N2 एवियन एंफ्लुएंजा वायरस का ही एक प्रकार है जो पक्षियों से फैलता है। वे लोग जो पोल्ट्री फार्म में काम करते हैं, उनमें इस वायरस से संक्रमित होने की ज्यादा आशंका होती है। इस वायरस की चपेट में आने से सांस संबंधित बीमारियां ज्यादा होती हैं। अगर कोई एक पक्षी इसकी चपेट में आ जाए तो इससे पक्षियों का पूरा झुंड ही संक्रमित हो सकता है। वहीं जो इंसान इस वायरस की चपेट में आए पक्षियों या उस जगह के संपर्क में आते हैं, उसमें भी H5N2 का संक्रमण हो सकता है। हालांकि यह वायरस पक्षियों की अपेक्षा इंसानों में कम गति से फैलता है।

मैक्सिकन अधिकारियों ने वायरस की पुष्टि की

वैज्ञानिकों के मुताबिक, पीड़ित व्यक्ति का पोल्ट्री या फिर किसी अन्य जानवर के संपर्क में आने का कोई इतिहास नहीं था, लेकिन इसके बावजूद उसे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो रही थीं। वह कई हफ्तों से बेड रेस्ट पर था। मैक्सिको की हेल्थ मिनिस्ट्री ने भी यह कहा है कि इस व्यक्ति को टाइप-2 डायबिटीज और किडनी की समस्या थी। मैक्सिको सरकार ने मार्च महीने में देश के पश्चिमी मिचोआकेन राज्य के एक परिवार इकाई में ए (एच5एन2) के प्रकोप की जानकारी दी थी। अप्रैल में व्यक्ति की मौत के बाद मैक्सिकन अधिकारियों ने वायरस की पुष्टि की और इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन को सूचित किया।

The post बर्ड फ्लू से हुई दुनिया में पहले शख्स की मौत,WHO ने बताया आपको कितना खतरा-जानें appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment