बर्ड फ्लू की बीमारी से बचना है तो चिकन और अंडे को इस तरीके से खाना शुरू कर दें

नई दिल्ली – राजधानी रांची के होटवार स्थित रीजनल पोल्ट्री फार्म में h5n1 एवं इन्फ्लूएंजा बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद विभागीय मुस्तादी से अब स्थिति पूरी तरीके से सामान्य हो रही है.

स्वास्थ्य जोखिमों को कम करने की दिशा में काम जारी

उन्होंने फिर से दोहराते हुए कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन वायरस से पैदा होने वाले सभी स्वास्थ्य जोखिमों को कम करने की दिशा में काम कर रही है.जिनेवा प्रेस ब्रीफिंग में डब्ल्यूएचओ के ग्लोबल इन्फ्लुएंजा कार्यक्रम के प्रमुख वेनकिंग झांग ने कहा, “प्रवासी पक्षियों से दुनिया भर में फैले वायरस के साथ निश्चित रूप से अन्य देशों में गायों के संक्रमित होने का खतरा है.

अंडे आपके आहार का एक पौष्टिक हिस्सा

अंडे: बर्ड फ्लू के प्रकोप के दौरान अंडे आपके आहार का एक पौष्टिक हिस्सा हो सकते हैं. अच्छी तरह से पकाए गए अंडों का चयन करें. कच्चे या अधपके अंडे जैसे धूप में पकाए गए या नरम उबले अंडों से बचें.पौधे बेस्ड प्रोटीन: अपने भोजन में सेम, दाल, टोफू और नट्स जैसे पौधे-आधारित प्रोटीन स्रोतों को शामिल करें. ये विकल्प बर्ड फ्लू की बीमारी के जोखिम को रोकेगा साथ ही आपको प्रोटीन भी देगा.

बर्ड फ्लू इंफेक्शन मुक्त हुआ एपी सेंटर

फार्म के इंचार्ज डॉ धनंजय ने बताया कि भले ही एपी सेंटर इन्फेक्शन से मुक्त हो चुका है. लेकिन, अभी भी जो गाइडलाइन जारी की गई थी. उसे शक्ति से लागू किया जा रहा है. जिसके मुताबिक रांची के 1 किलोमीटर के दायरे पर मुर्गियां, बतख और अंडे की बिक्री पर प्रतिबंध जारी रहेगा. वहीं 10 किलोमीटर तक के दायरे पर डॉक्टर ने एहतियातन इसका सेवन न करने की अपील की है.

The post बर्ड फ्लू की बीमारी से बचना है तो चिकन और अंडे को इस तरीके से खाना शुरू कर दें appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment