प्रेग्नेंसी में इन फलों का भूल कर भी नहीं करें सेवन,मां और बच्चे दोनों की सेहत को हो सकता है खतरा

नई दिल्लीः शादी के बाद मां बनना किसी भी महिला को मुकम्मल होने का अहसास कराता है। जिंदगी में खुशियां देने वाले इस नौ महीना के सफर में अगर महिलाओं का ध्यान नहीं रखा जाएं तो परेशानियां बढ़ने का खतरा अधिक रहता है। महिला के कंसीव करने से लेकर 3 तीन महीनों तक उसकी डाइट का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इन तीन महीनों में भ्रूण का विकास होता है, इसलिए महिलाओं को अपनी डाइट सोच समझकर प्लान करनी चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान जहां कुछ चीज़ों का सेवन करने से फायदा मिलता है, वहीं कुछ चीज़ें भ्रूण को नुकसान भी पहुंचाती है। प्रेग्नेंसी में महिलाओं को फ्रूट का सेवन करने को कहा जाता है लेकिन आप जानते हैं कि इस दौरान महिलाओं को कुछ फ्रूट नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे 5 फ्रूट्स के बारे में जो महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान बिल्कुल नहीं खाने चाहिए।

कच्चा पपीता नहीं खाएं

प्रेग्नेंसी में पपीता खाने को सख्त मना किया जाता है। इस दौरान कच्चा पपीता जल्दी प्रसव की संभावना को बढ़ा देता है। पपीता के सेवन से मिसकैरेज का खतरा भी बना रहता है। इसमें मौजूद तत्व पपाइन गर्भावस्था के दूसरे व तीसरी तिमाही में खतरनाक साबित हो सकता है।

अनानस से करें प्रेग्नेंसी में परहेज़

टेस्टी खट्टा मिठा अनानास पोषक तत्वों से भरपूर होता है जिसे ज्यादातर लोग खाना पसंद करते हैं। इसके हेल्थ को बेहद फायदे है यह हड्डियों को मज़बूत करता है साथ ही सेहतमंद भी रखता है। प्रेग्नेंसी में ज्यादा अनानास का सेवन आपके बच्चे के लिए खतरा हो सकता है, इसके सेवन से समय से पहले डिलिवरी का खतरा बन सकता है। पहले तीन महीनों में खासकर महिलाएं इसका सेवन करने से परहेज़ करें।

कड़वा तरबूज नहीं खाएं

कड़वे तरबूज से प्रेग्नेंसी में ब्लड शुगर कम होने की स्थिति पैदा हो सकती है। कड़वे तरबूज से गर्भाशय में जलन होती है, जिससे गर्भपात या समय से पहले डिलीवरी का खतरा बढ़ जाता है।

अंगूर से करें परहेज़

प्रेग्नेंसी के दौरान अंगूर का सेवन बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता है। अंगूर की पैदावार के दौरान उसमें पेस्टिसाइड्स छिड़के जाते हैं जो प्रेग्नेंसी में सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। अंगूर में रसवराटॉल नामक तत्व अधिक होता है जो प्रेग्नेंसी में बॉडी में टॉक्सिक पदार्थों को बढ़ाने का काम करता है।

अमरूद खाने से बचें

अमरूद में बेहद पोषक तत्व पाए जाते हैं लेकिन प्रेग्नेंसी में इसका सेवन करने से मना किया जाता है। गर्भवती महिलाओं को यह फल सीमित मात्रा में खाना चाहिए। अमरूद शरीर के तापमान में बढ़ोतरी करता है साथ ही कब्ज की परेशानी भी पैदा करता है।

ना खाएं केला

केला तो वैसे ज्यादातर लोगों को पसंद होता है लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान इस फल से दूरी बनाना ही सेहत के लिए अच्छा है। कई महिलाओं को केला खाने से एलर्जी हो सकती है। केले में लैटेक्स नाम का तत्व होता है। ये शरीर में एलर्जी कर सकता है साथ ही शरीर के तापमान को भी बढ़ा सकता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसके सेवन से बचना चाहिए।

तरबूज

प्रेग्नेंसी में तरबूज भी नहीं खाना चाहिए। तरबूज का अधिक सेवन शुगर लेवल को बढ़ा सकता है जिससे महिला और बच्चे दोनों की सेहत पर खराब असर पड़ सकता है। इसलिए इसे खाने से बचना ही ठीक है।

आम

इसी तरह आम को भी प्रेग्‍नेंट महिला को अपनी डाइट में शामिल नहीं करना चाहिए. इसकी वजह यह है कि यह तासीर में गरम माना जाता हे. ऐसे में गर्भवती महिला के लिए इसे खाना नुकसानदायक हो सकता है. वहीं अगर आप कोई फल या सब्‍जी अपनी डाइट में शामिल करते हैं, तो एक बार अपने डॉक्‍टर से सलाह जरूर ले लें.

करेला

चैसे तो करेला कई पोषक तत्‍वों से युक्‍त होता है, लेकिन करेले के बीजों में पाए जाने वाले कुछ तत्‍व गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास के लिए नुकसान दायक हो सकते हैं. इसलिए इसे भी अपने डॉक्‍टर की सलाह पर ही अपनी डाइट में शामिल करें. इसके सेवन से गर्भवती महिला को जी-मिचलाना, दस्त और पेट में दर्द आदि की शिकायत हो सकती है.

तुलसी के पत्ते से गर्भपात का खतरा

तुलसी के पत्ते गर्भवती महिला के भ्रूण के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं। इसमें एस्ट्रोगोल की मौजूदगी गर्भपात भी करावा सकती हैं। तुलसी के पत्ते एक महिला के मासिक चक्र को भी प्रभावित करते हैं।

ये चीजें खाएं

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं स्ट्रॉबेरी, अमरूद, चैरी, नाशपाती, कीवी, तरबूज और संतरे के अलावा एवोकाडो जैसे फल और सब्जियों का सेवन कर सकती हैं. मगर इनको खाने से पहले भी अपने डॉक्‍टर से संपर्क जरूर कर लें, क्‍योंकि कई महिलाओं को इस स्थिति में कुछ फल सूट नहीं करते. साथ ही गर्भवती महिलाएं इस बात का पूरा ध्‍यान रखें कि वे जो भी फल या सब्जियां खाएं वे पहले अच्‍छी तरह धो ली जाएं. वरना इनमें मौजूद हानिकारक तत्‍व और कीटाणु सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

इनका भी रखें ध्यान

गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इनके सेवन से होने वाले शिशु पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

गर्भावस्था के दौरान कॉफी और चाय न पिएं। इनमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है जिससे गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान हो सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान कच्चा भोजन न खाएं जैसे कच्चे स्प्राउट्स या कच्चा नॉनवेज। अच्छा पौष्टिक पकाया गया भोजन ही खाएं।

प्रेग्नेंसी के दौरान गर्म चीजों के सेवन से बचें। गर्म चीज हो या किसी भी चीज की तासीर गर्म हो वह होने वाले बच्चे के लिए नुकसानदायक होती है।

The post प्रेग्नेंसी में इन फलों का भूल कर भी नहीं करें सेवन,मां और बच्चे दोनों की सेहत को हो सकता है खतरा appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment