धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की भागवत कथा शुरू,नाइट कल्चर पर भड़के बाबा बागेश्वर

मुंबई – पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि जहां भक्त की हां होती है वहीं पर भगवान होते हैं। भगवान को खोजने की आवश्यकता नहीं होती है, भगवान सर्वत्र हैं। भगवान को पाने के लिए मन की शुद्धि बहुत जरूरी है। श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण सौभाग्य से मिलता है। भगवान की लीलाओं का दिव्य दर्शन कथा के माध्यम से होता है। भवसागर से पार जाने के लिए श्रीमद् भागवत का श्रवण जीवन का अमूल्य क्षण है। जनता जिनको चुनती है वह चुनाव जीतते हैं और लोकसभा-विधानसभा में पहुंचते हैं, लेकिन भगवान जिनको चुनते हैं और श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने चले आते हैं।

नाइट कल्चर पर सवाल

नाइट कल्चर पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारत में इतना स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए, जितना इंदौर ने करने का दुस्साहस किया है। नाइट कल्चर तो निशाचरों का है और इंदौर में निशाचर नहीं रहते हैं। उन्होंने कहा कि इंदौर वाले तो धार्मिक लोग हैं। नाइट कल्चर से हमारी संस्कृति खराब होगी और इससे इंदौर की पवित्रता पर दाग लगेगा। साथ ही इससे अपराध भी बढ़ेंगे। सरकार को तुरंत बिना सोचे-समझे नाइट कल्चर को बंद कर देना चाहिए।

कृष्ण भी माखन-मिश्री खाएंगे बस देखते जाओ

धीरेंद्र शास्त्री ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी की नाम वापसी के सवाल पर कुछ भी कहने से इनकार किया। भारत हिंदू राष्ट्र कब तक बनेगा इसपर कहा कि अयोध्या में राम लला प्रतिष्ठा हो गए है, अब कृष्ण भी माखन-मिश्री खाएंगे बस देखते जाओ. सनातन धर्म हमेशा था और हमेशा रहेगा।सभी को ध्यान रखना है कि परिवार और मित्र की संगत किसके साथ है।पीने वालों के साथ संगत होगी तो पीने की पार्टी में जाएगा और भागवत भक्तों की संगत होगी तो मंदिर जाएंगे।अपने बच्चों की संगत पर ध्यान रखो कि पार्टी वालों की संगत कर रहे हैं या हनुमान जी की।

The post धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की भागवत कथा शुरू,नाइट कल्चर पर भड़के बाबा बागेश्वर appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment