झारखंड में टेंडर कमीशन घोटाला,कैश स्कैंडल में आईएएस मनीष रंजन को किया समन

नई दिल्ली – निफ्टी 50 में आज (23 मई को) 1 प्रतिशत से अधिक का उछाल आया और इसने 22,800 का नया स्तर बना दिया. बीएसई सेंसेक्स भी 700 अंकों से अधिक के उछाल के साथ 75,050 का स्तर छुआ, हालांकि यह ऑल टाइम हाई नहीं बना पाया. खबर लिखे जाने तक मार्केट चल रही है और संभव है कि सेंसेक्स भी आज नया हाई लगा दे।शेयर मार्केट में आए इस उछाल के पीछे की वजह चौथी तिमाही के कंपनियों के अच्छे नतीजे, और आरबीआई द्वारा सरकार को दिया गया रिकॉर्ड डिविडेंड को बताया जा रहा है।दूसरी तरफ अमेरिका के एक एक्सपर्ट ने भारत में मोदी सरकार को बड़ा बहुमत मिलने का दावा भी किया है।इधर, भारत में भी अब चुनाव लगभग खत्म होने को हैं और वर्तमान सरकार अपनी जीत को लेकर काफी आश्वस्त नजर आ रही है।

आईएएस के खिलाफ समन

इन साक्ष्यों के आधार पर जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, रूरल डेवलपमेंट डिपार्टमेंट में कमीशनखोरी के संगठित खेल का खुलासा हो रहा है। आईएएस मनीष रंजन को इस कमीशनखोरी नेटवर्क की अहम कड़ी माना जा रहा है। ईडी ने इस स्कैम में गिरफ्तार किए गए मंत्री के पीएस संजीव कुमार लाल एवं जहांगीर आलम से 14 दिनों तक रिमांड पर पूछताछ की और इसके बाद कोर्ट में मंगलवार को एक एक्सेल शीट एवं कागजात पेश किए। इन कागजात में बताया गया है कि जिन लोगों के बीच कमीशन की राशि बंटती रही है, उनके नाम कोर्ड वर्ड में एच, एम, एस, टीसी, सीई आदि लिखे गए हैं। ईडी ने कोड वर्ड्स को डिकोड किया है।

कमीशनखोरी का खेल

इसके अनुसार, “एच का अर्थ ऑनरेबल मिनिस्टर और एम का अर्थ मनीष है। एच यानी ‘ऑनरेबल मिनिस्टर’ आलमगीर आलम इस मामले में 15 मई को गिरफ्तार किए जा चुके हैं और अब एम अर्थात मनीष रंजन भी जांच के रडार पर आ गए हैं।” पिछले दो वर्षों में ईडी ने सीनियर आईएएस पूजा सिंघल और छवि रंजन को मनी लॉन्ड्रिंग के अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार किया है। जबकि, दो अन्य आईएएस राजीव अरुण एक्का एवं रामनिवास यादव से पूछताछ हो चुकी है। मनीष रंजन पांचवें आईएएस हैं, जिन्हें ईडी ने समन भेजा है।

The post झारखंड में टेंडर कमीशन घोटाला,कैश स्कैंडल में आईएएस मनीष रंजन को किया समन appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment