कोरोना के नए वेरिएंट KP.2 ने बढ़ाई टेंशन,इन शहरों में फैला है वायरस

नई दिल्लीः कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. दुनिया के कई देशों में कोरोना के ओमिक्रॉन सबवेरिएंट KP.2 के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं. देश की बात करें तो महाराष्ट्र में भी सबवेरिएंट KP.2 के चले कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के सबवेरिएंट KP.2 के 91 मामलों की पहचान हुई है.

महाराष्ट्र में सामने आए 91 कोरोना के मामले

कोविड का KP.2 सबवेरिएंट महाराष्ट्र में JN.1 वैरिएंट से आगे निकल गया है. कई देशों में इसके चलते कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक KP.2 सबवेरिएंट के पुणे में 51 मामले और ठाणे में 20 मामले दर्ज किए गए हैं. KP.2 सबवेरिएंट की पहली बार जनवरी में विश्व स्तर पर पहचान हुई थी. वर्तमान में KP.2 अमेरिका में प्रमुख वेरिएंट है. महाराष्ट्र में भी KP.2 के मामलों की पहचान पहली बार जनवरी में हुई थी.

मार्च और अप्रैल में तेजी से बढ़े मामले

मार्च और अप्रैल तक कोरोना का यह वेरिएंट महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में तेजी से उछाल ला चुका है. राहत की बात यह है कि कोरोना के इस वेरिएंट के गंभीर मामले में अभी तक सामने नहीं आए हैं. हल्के लक्षण के साथ लोगों को अस्पताल में भर्ती नहीं होना पड़ रहा है. एक्सपर्ट्स की मानें तो इस गर्मी में इस वेरिएंट के चलते कोविड मामलों में थोड़ी वृद्धि होगी.

इन शहरों में भी दर्ज किए गए केस

महाराष्ट्र में सबसे पहले जनवरी में केपी.2 का केस सामने आया था. उधर, पुणे और ठाणे के अलावा अमरावती और औरंगाबाद में भी सात-सात मामले दर्ज किए गए हैं जबकि सोलापुर में दो, अहमदनगर, नासिक, लातुर और सांगली में एक-एक मामले दर्ज किए गए.

अमेरिका में 28% कोविड के मामले KP.2 वेरिएंट के

अमेरिका में 28% कोविड के मामले KP.2 वेरिएंट के हैं, जो अप्रैल के मध्य में केवल 6% था. जिससे स्पष्ट है कि यह कोरोना के नए मामलों में सबसे बड़ी हिस्सेदारी के लिए जिम्मेदार है. इसने JN.1 संस्करण को पीछे छोड़ दिया, जो सर्दियों में कोरोना मामलों के लिए जिम्मेदार था. बता दें कि 2020 के बाद से अमेरिका में हर गर्मियों में कोविड के मामले बढ़े हैं. अगर KP.2 का प्रसार जारी रहा, तो यह पैटर्न दोहरा सकता है.

अमेरिका में बढ़ रहे इसके मामले

अमेरिका में केपी.2 डॉमिनेंट वैरिएंट है. डॉक्टर बताते हैं कि केपी.2 जो कि FLiRT वैरिएंट का हिस्सा है. इसमें अस्पताल में भर्ती करने के मामले ज्यादा नहीं है.FLiRT वैरिएंट, केपी.2 और केपी.1.1 के मामले में अमेरिका में देखे गए हैं और मरीजों में ओमिक्रॉन के लक्ष्ण है. केपी.2 की प्रतिकृति की संख्या जेएन.1 से ज्यादा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इस नए वैरिएंट पर नजर बना रखी है. संगठन ने वायरस में होने वाले बड़े बदलावों पर ध्यान देने की सलाह दी है.कोरोना का मामला दिसंबर 2019 में सबसे पहले सामने आया था. इसके बाद धीरे-धीरे यह कई देशों में फैला, पश्चिमी देशों में इसके कारण हजारों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी. तब से लेकर अब तक इसके कई वैरिएंट आ चुके हैं.

The post कोरोना के नए वेरिएंट KP.2 ने बढ़ाई टेंशन,इन शहरों में फैला है वायरस appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment