कैसे होती है वोटों की गिनती,कौन खोलता है स्ट्रांग रूम का ताला

नई दिल्ली – लोकसभा चुनाव 2024 के रिजल्ट का काउंटिंग शुरू हो चुका है। 4 जून यानि कल मतगणना के साथ पता लग जाएगा कि केंद्र में किसकी सरकार बन रही है। परिणाम आने से पहले यह जानने की उत्सुकता सभी में होती है कि आखिर कैसे वोटों की गिनती होती है?जिस दिन मतगणना होती है, उस दिन सुबह 7 बजे के करीब चुनाव लड़ रहे सभी दलों के उम्मीदवारों या उनके प्रतिनिधियों की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम का ताला खोला जाता है. इस दौरान रिटर्निंग ऑफिसर और चुनाव आयोग के स्पेशल ऑब्जर्वर भी मौजूद रहते हैं और वही ताला खोलते हैं। इस दौरान पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाती है।

प्रतिनिधियों के सामने स्ट्रांग रूम का ताला खोला जाता है

मतगणना वाले दिन सुबह 7 बजे के आसपास प्रत्येक दल के उम्मीदवारों या उनके प्रतिनिधियों की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम का ताला खोला जाता है। इस दौरान रिटर्निंग ऑफिसर और चुनाव आयोग के स्पेशल ऑब्जर्वर भी मौजूद रहते हैं। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाती है। इसके बाद EVM की कंट्रोल यूनिट (CU) काउंटिंग वाली टेबल पर लाई जाती है। इस प्रक्रिया की भी वीडियोग्राफी कराई जाती है। सीसीटीवी से भी निगरानी होती रहती है। टेबल पर रखने के बाद प्रत्येक कंट्रोल यूनिट की यूनिक आईडी और सील का मिलान किया जाता है। इसे हर उम्मीदवार के पोलिंग एजेंट को भी दिखाया जाता है। इसके बाद कंट्रोल यूनिट में बटन प्रेस करने के बाद हर उम्मीदवार का वोट EVM में उसके नाम के आगे दिखने लगता है।

कौन शुरू करता है डाक मतपत्रों की गिनती ?

चुनाव संचालन नियम 1961 के नियम 54 ए के तहत, डाक मतपत्रों की गिनती सबसे पहले रिटर्निंग ऑफिसर (आरओ) की टेबल पर शुरू की जाएगी। केवल ऐसे डाक मतपत्रों की गिनती की जाएगी जो मतगणना शुरू होने के लिए निर्धारित समय से पहले आरओ को प्राप्त हो जाएं। डाक मतपत्रों की गिनती शुरू होने के 30 मिनट बाद ईवीएम से मतों की गिनती शुरू होती है।

वोटों की गिनती कौन करता है?

हर एक मतगणना केंद्र के एक हॉल में कुल 15 टेबल लगी होती है। इसमें 14 टेबल काउंटिंग के लिए और एक टेबल रिटर्निंग ऑफिसर के लिए होती है, कौन सा कर्मचारी किस टेबल पर काउंटिंग करेगा, ये बहुत सीक्रेट रखा जाता है, जिस दिन मतगणना होती है, उस दिन सुबह हर जिले का निर्वाचन अधिकारी रैंडम तरीके से कर्मचारियों को हॉल और टेबल अलॉट करता है।

कैसे होता है परिणाम घोषित

कंट्रोल यूनिट का परिणाम मतगणना पर्यवेक्षक, माइक्रो ऑब्जर्वर और उम्मीदवारों के मतगणना एजेंटों को दिखाने के बाद फॉर्म 17सी के भाग-II में नोट किया जाएगा। कंट्रोल यूनिट के डिस्प्ले पैनल में परिणाम प्रदर्शित न होने की स्थिति में, सभी सीयू की गणना पूरी होने के बाद संबंधित वीवीपैट की वीवीपैट पर्चियों की गणना की जाएगी। प्रत्येक सीयू का उम्मीदवार-वार परिणाम फॉर्म 17सी के भाग II में नोट किया जाएगा और मतगणना पर्यवेक्षक और मतगणना टेबल पर मौजूद उम्मीदवारों के मतगणना एजेंटों द्वारा हस्ताक्षरित किया जाएगा।

The post कैसे होती है वोटों की गिनती,कौन खोलता है स्ट्रांग रूम का ताला appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment