ईरान के राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश,हादसे के स्थान पर पहुंची बचाव दल की टीम

नई दिल्लीः ईरान के सरकारी टेलीविजन की रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को ले जा रहे हेलीकॉप्टर को आपात स्थिति में अजरबैजान में उतारा गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इब्राहिम रईसी को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर को रविवार को “हार्ड लैंडिंग” का सामना करना पड़ा. जानकारी के अनुसार काफिले में से एक हेलीकॉप्टर की हार्ड लैंडिंग हुई है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जिस हेलिकॉप्टर की हार्ड लैंडिंग हुई है उसमें राष्ट्रपति मौजूद थे. रेस्क्यू की टीम घटनास्थल पर पहुंच गयी है.ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी हेलीकॉप्टर से अजरबैजान की यात्रा पर थे. जानकारी के अनुसार यह हादसा पूर्वी अजरबैजान में हुआ है. अब तक इस घटना में किसी भी तरह के नुकसान की कोई सूचना नहीं है. राष्ट्रपति के काफिले में तीन हेलीकॉप्टर थे.

‘अभी तक नहीं मिला हेलीकॉप्टर’

एरेम न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक ईरानी सांसद ने मोहम्मद रजा मीर ने बताया, “राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और कई अधिकारियों को ले जा रहा हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद अभी तक नहीं मिला. राष्ट्रपति के स्वास्थ्य को लेकर भी अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है.” उन्होंने आगे कहा कि रिवोल्यूशनरी गार्ड, सेना और रेड क्रिसेंट दुर्घटना स्थल तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

‘अजरबैजान प्रांत के जंगलों में हुआ दुर्घटनाग्रस्त’

ईरानी सांसद ने बताया, “शुरुआती जानकारी के मुताबिक राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर पूर्वी अजरबैजान प्रांत के आसपास के जंगलों में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जो तबरीज से 106 किलोमीटर दूर है. हेलीकॉप्टर में सवार लोगों से फिलहाल कोई संपर्क नहीं हो पाया है.”

‘खराब मौसम के कारण करानी पड़ी हार्ड लैंडिंग’

ईरानी टीवी चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक उनके देश के आंतरिक मंत्री अहमद वाहिदी ने कहा, “राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी हेलीकॉप्टर पर सवार होकर जा रहे थे. खराब मौसम और कोहरे के कारण उनके साथ निकले हेलीकॉप्टरों में से एक हेलीकॉप्टर जिसमें राष्ट्रपति सवार थे, उसकी हार्ड लैंडिंग करनी पड़ी. बचाव दल हादसे वाली जगह पर जाने की कोशिश में जुटे हुए हैं, लेकिन खराब मौसम और कोहरे की वजह से उन्हें हेलीकॉप्टर तक पहुंचने में समय लग सकता है.”एपी की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा कि वह ईरानी राष्ट्रपति और विदेश मंत्री को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर की हार्ड लैंडिंग की रिपोर्टों पर बारीकी से नजर रख रहा है.

ईरानी आंतरिक मंत्री ने क्या अपडेट दिया

वाहिदी ने कहा, “आज, हमने अजरबैजानी राष्ट्रपति की उपस्थिति के साथ किज कलासी बांध का उद्घाटन (समारोह) किया। उसके बाद, राष्ट्रपति, साथियों के साथ, कई हेलीकॉप्टरों पर सवार थे।” वापसी यात्रा, जिनमें से एक को क्षेत्र में प्रतिकूल मौसम की स्थिति के कारण हार्ड लैंडिंग करने के लिए मजबूर होना पड़ा।” उन्होंने कहा कि बचाव दल को क्षेत्र में भेज दिया गया है, लेकिन क्षेत्र में कोहरा और चुनौतीपूर्ण इलाका होने के कारण हेलीकॉप्टर तक पहुंचने में कुछ समय लग सकता है। वाहिगी ने कहा, “हम राष्ट्रपति के साथियों के साथ संपर्क में हैं, लेकिन क्षेत्र की जटिलता के कारण, संचार कुछ हद तक चुनौतीपूर्ण है। हम घटना स्थल और हेलीकॉप्टर के लैंडिंग स्थल पर बचाव टीमों के आने का इंतजार कर रहे हैं ताकि हमें जानकारी मिल सके।”

हेलीकॉप्टर की लोकेशन अब भी अज्ञात

दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद से, रेड क्रिसेंट की बचाव टीमों के साथ-साथ सैन्य और कानून प्रवर्तन ने राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर की व्यापक खोज शुरू कर दी है। स्थानीय निवासियों के अनुसार, क्षेत्र में कोहरे की स्थिति के कारण हेलीकॉप्टर की स्थिति अज्ञात बनी हुई है। दुर्घटना के बाद राष्ट्रपति के एक साथी द्वारा केंद्रीय मुख्यालय को किए गए फोन कॉल को देखते हुए, इस बात की काफी उम्मीद है कि कोई हताहत नहीं हुआ।

हेलीकॉप्टर पर ईरानी विदेश मंत्री भी हैं सवार

बताया जा रहा है कि ईरानी राष्ट्रपति के साथ हेलीकॉप्टर में तबरीज़ के शुक्रवार की प्रार्थना के इमाम सैय्यद मोहम्मद-अली अल-हाशेम और विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन भी थे। स्टेट टीवी ने कहा कि यह घटना ईरान की राजधानी तेहरान से लगभग 600 किलोमीटर (375 मील) उत्तर-पश्चिम में अजरबैजान देश की सीमा पर स्थित शहर जोल्फा के पास हुई।

घटनास्थल तक पहुंचने में खराब मौसम बना बाधा

सरकारी टीवी ने कहा कि बचावकर्मी घटनास्थल तक पहुंचने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन खराब मौसम के कारण इसमें बाधा आ रही थी। कुछ हवाओं के साथ भारी बारिश और कोहरे की सूचना मिली थी। आईआरएनए ने इस क्षेत्र को “जंगल” कहा।

अजरबैजान दौरे पर हैं ईरानी राष्ट्रपति

ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी अजरबैजान दौरे पर गए थे। इस दौरान उन्होंने अजरबैजानी राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव से मुलाकात की। मुलाकात के बाद रायसी ने कहा कि ईरान और अजरबैजान गणराज्य फिलिस्तीनी लोगों का समर्थन करना जारी रखेंगे क्योंकि दोनों पक्ष जायोनी शासन (इजरायल) से नफरत करते हैं। रायसी ने रविवार को अपने अजरबैजानी समकक्ष इल्हाम के साथ बातचीत के दौरान कहा, “फिलिस्तीन मुद्दा इस्लामी दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है, और ईरानी और अज़रबैजानी देशों को फिलिस्तीनी लोगों के समर्थन और ज़ायोनी शासन के प्रति उनकी नफरत में कोई संदेह नहीं है।”

ईरान और अजरबैजान ने संयुक्त बांध का किया उद्घाटन

ईरान और अजरबैजान राष्ट्रपतियों ने अरास की सीमा नदी पर बने संयुक्त किज कलासी बांध के उद्घाटन के लिए एक समारोह के मौके पर मुलाकात की। राष्ट्रपति रायसी ने इस परियोजना को विकास का प्रतीक और आपसी सहयोग का विस्तार करने के लिए दोनों देशों के दृढ़ संकल्प का संकेत बताया। उन्होंने यह भी कहा कि अजरबैजान गणराज्य के साथ ईरान के संबंध “अटूट” हैं और पड़ोसीपन से परे हैं। रायसी ने आगे कहा कि ईरान और अजरबैजान कोको बढ़ावा देने के अलावा, उन संगठनों के माध्यम से क्षेत्रीय और अतिरिक्त-क्षेत्रीय सहयोग को भी बढ़ावा देना चाहिए, जिनके दोनों पक्ष सदस्य हैं।

The post ईरान के राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश,हादसे के स्थान पर पहुंची बचाव दल की टीम appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment