इन नये चेहरों को मिल सकती है मोदी 3.0 कैबिनेट में जगह,अनुराग ठाकुर से स्मृति ईरानी तक इन दिग्गजों का कटा पत्ता

नई दिल्लीः नरेंद्र मोदी कैबिनेट के शपथ ग्रहण की तैयारियां तेज हो गई हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने शपथ ग्रहण से पहले नए मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा की। तमाम चेहरों को प्रधानमंत्री आवास में बुलाया गया। हालांकि, इसमें कुछ चेहरे शामिल नहीं हो पाए। वह दिल्ली शाम तक पहुंच सकते हैं। मोदी कैबिनेट के अब तक सामने आए चेहरों में उत्तर प्रदेश की भागीदारी इस बार कम होती दिख सकती है। दरअसल, पिछले दो लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भाजपा को बड़ी जीत दिलाई थी। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा 71 और एनडीए 73 सीटों पर जीती थी। वहीं, 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा 62 और एनडीए 64 सीटों पर विजयी हुई थी। लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा 33 और एनडीए 36 सीटों पर जीती है। इसका असर सीधे तौर पर केंद्रीय कैबिनेट गठन में दिख रहा है।

लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेकर आज इतिहास रचने जा रहे -नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेकर आज इतिहास रचने जा रहे हैं. वह जवाहर लाल नेहरू के बाद दूसरे नेता हैं, जो लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं. मोदी मंत्रिमंडल में इस बार 65 मंत्रीपद की शपथ ले सकते हैं. लेकिन कई पिछली सरकार में मंत्री रहे नेताओं को नई कैबिनेट में जगह नहीं मिल सकती है. बीजेपी इस बार अपने दम पर बहुमत से 32 दूर है. जाहिर है इसकी झलक भी मंत्रिमंडल में मिल रही है. नई सरकार में सहयोगियों को करीब एक दर्जन मंत्रालय बांटे गए हैं.

उत्तर प्रदेश से इस बार जिस सबसे बड़े नाम की चर्चा चल रही है, वह स्मृति ईरानी हैं। उन्हें केंद्रीय कैबिनेट में इस बार जगह नहीं मिलती दिख रही है। वह पीएम आवास पर हुई नए मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा के दौरान नहीं दिखाई दीं। यूपी के 9 चेहरों को अभी तक मोदी 3.0 कैबिनेट में जगह मिलती दिख रही है। इसमें से छह चेहरे पहले भी नरेंद्र मोदी सरकार का हिस्सा बने थे। तीन नए चेहरों को मोदी कैबिनेट में जगह मिलती दिख रही है। आइए, उनके बारे में जानते हैं…

नजर आएंगे कई नये चेहरे

एक वजह यह भी है कि मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को भी मंत्री बनाया जा रहा है. इसमें मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ-साथ हरियाणा के पूर्व सीएम मनोहर लाल खट्टर शामिल हैं. मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में इन लोगों को भी शामिल किया जा रहा है. इस वजह से भी बीजेपी के सांसद इस बार मंत्री नहीं बना पाएंगे.

राजनाथ सिंह

मोदी 2.0 कैबिनेट में रक्षा मंत्री बने राजनाथ सिंह मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में भी मंत्री बनने जा रहे हैं। मोदी सरकार के संभावित मंत्रियों में उनका नाम सबसे आगे है। पीएम मोदी के साथ बैठक के दौरान वे दिखाई दिए। राजनाथ सिंह ने लखनऊ लोकसभा सीट पर लगातार तीसरी बार जीत दर्ज की है। वे 1,35,159 वोटों के अंतर से सपा के रविदास मेहरोत्रा पर जीते हैं। मोदी सरकार के पिछले दोनों कार्यकाल में राजनाथ सिंह अहम जिम्मेदारी संभालते दिखे हैं। वे राजपूत समुदाय का चेहरा बनते दिख रहे हैं।

पंकज चौधरी

महराजगंज लोकसभा सीट से सातवीं बार जीत दर्ज करने वाले भाजपा सांसद पंकज चौधरी को एक बार फिर मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। मोदी 2.0 में भी पंकज सिंह को जगह मिली है। महराजगंज सीट पर पंकज चौधरी को इस बार कांग्रेस के वीरेंद्र चौधरी पर जीत दर्ज करने में काफी मशक्कत हुई। वे 35,451 वोटों से जीत दर्ज करने में कामयाब हुए हैं। कुर्मी समुदाय के जरिए ओबीसी वर्ग को साधने की कोशिश इनके जरिए होगी।

एसपी सिंह बघेल

उत्तर प्रदेश की आगरा सीट से बड़ी जीत दर्ज करने वाले प्रो. एसपी सिंह बघेल को एक बार फिर मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है। प्रो. बघेल दलित समाज से आते हैं। ऐसे में वे भाजपा को इस वर्ग के बीच बनाए रखने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। प्रो. बघेल ने इस बार सपा के सुरेश चंद कर्दम को 2,71,294 वोटों के अंतर से हराया है।

अनुप्रिया पटेल

ओबीसी समुदाय को साधने के लिए अपना दल एस प्रमुख अनुप्रिया पटेल को मोदी 3.0 कैबिनेट में जगह मिलने जा रही है। इस चुनाव में अनुप्रिया को बड़ी चुनौती झेलनी पड़ी। उनके खाते में आई रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट पर पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर लोकसभा सीट से 37,810 वोटों से जीत दर्ज करने में कामयाब रही हैं।

जितिन प्रसाद

यूपी के ब्राह्मण चेहरे के तौर पर जितिन प्रसाद को मोदी मंत्रिमंडल में जगह दी जानी तय है। वे यूपी चुनाव 2022 से पहले भाजपा से जुड़े थे। कांग्रेस से आए जितिन प्रसाद को पहले योगी सरकार में मंत्री बनाया गया। अब वे मोदी कैबिनेट का हिस्सा होंगे। इस बार उन्हें वरुण गांधी के स्थान पर पीलीभीत लोकसभा सीट से उतारा गया। उन्होंने सपा के भागवत शरण गंगवार को 1,64,935 वोटों से हराया है।

जयंत चौधरी

मोदी सरकार 3.0 में जयंत चौधरी को भी मौका मिलने वाला है। मंत्री बनने के लिए उन्हें भी कॉल आया है। वे राष्ट्रीय लोक दल के प्रमुख के तौर पर मंत्रिमंडल में शामिल होंगे। जयंत अभी राज्यसभा सदस्य हैं। लोकसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन के तहत जयंत को 2 सीटें मिली थीं। दोनों पर रालोद को जीत मिली। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले महान किसान नेता चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न दिए जाने के बाद जयंत ने पाला बदलकर इंडिया से एनडीए का रुख किया। मोदी सरकार के जाट चेहरे के तौर पर वे दिखेंगे।

बीएल वर्मा

यूपी से राज्यसभा सदस्य बीएल वर्मा को भी मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है । पीएम आवास पर हुई संभावित मंत्रियों की बैठक में वह भी शामिल हुए हैं। बदायूं संसदीय सीट पर भाजपा की हार के बाद भी उनका मंत्री पद बरकरार रहने की बात सामने आ रही है। बीएल वर्मा के मंत्री बनाने को पार्टी पिछड़ा वर्ग के बीच अपनी पकड़ को बनाने के लिए रणनीति अपनाती दिख रही है। पिछली सरकार में बीएल वर्मा सहकारिता राज्यमंत्री रहे थे। पीएम मोदी और अमित शाह से निकटता होने की वजह से इनके दोबारा मंत्री बनने की संभावना रही है।

कमलेश पासवान

यूपी के दलित समाज को साधने के लिए बांसगांव से सांसद कमलेश पासवान को मोदी सरकार में शामिल किया जा सकता है। उन्हें भी पीएम मोदी के साथ चाय पर चर्चा के लिए बुलाया गया था। इस बार कमलेश पासवान ने बांसगांव सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार सदल प्रसाद को महज 3150 वोटों के अंतर से मात देकर कमल खिलाया।

हरदीप सिंह पुरी

यूपी से दूसरे राज्यसभा सदस्य के तौर पर हरदीप सिंह पुरी मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के कैबिनेट में शामिल होंगे। पिछली बार उन्हें राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार मिला था। पंजाब से आने वाले हरदीप सिंह पुरी को एक बार फिर संभावित मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा के दौरान देखा गया।

लगातार चल रही थी चर्चा

राजनीतिक जानकारों की ओर से दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में जातीय समीकरणों के साथ-साथ क्षेत्रीय संतुलन को बनाए रखने को ध्यान दिया जाएगा। कैबिनेट में जगह कम होने के बाद मंत्री बनने वाले नें की जिम्मेदारी बड़ी होगी। उन्हें पूरे क्षेत्र में पार्टी का प्रभाव बढ़ाने का जिम्मा होगा। इस बार मोदी सरकार के 8 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा है। ऐसे में पूर्वांचल से लेकर बुंदेलखंड और पश्चिम से लेकर अवध क्षेत्र तक कुछ बड़े चेहरों से साधने की कोशिश की जाती दिख रही है। यूपी की पिछड़ी और अतिपिछड़ी जातियों से भी कुछ सांसदों के मोदी कैबिनेट में शामिल होने की चर्चाएं खूब होती रही हैं।

मौजूदा और पूर्व मंत्री जिन्हें जगह नहीं मिली (कैबिनेट)

नारायण राणे लोक सभा विजयी
अनुराग ठाकुर लोक सभा विजयी
पुरुषोत्तम रूपाला लोक सभा विजयी
⁠अर्जुन मुंडा लोक सभा पराजित
स्मृति ईरानी लोक सभा पराजित
आर के सिंह लोक सभा पराजित
महेंद्र नाथ पांडेय लोक सभा पराजित

राज्य मंत्री

अश्विनी कुमार चौबे लोक सभा नहीं लड़ा
वी के सिंह लोक सभा नहीं लड़ा
⁠साध्वी निरंजन ज्योति लोक सभा पराजित
संजीव बालियान लोक सभा पराजित
राजीव चंद्रशेखर पराजित
दर्शना जरदोश टिकट नहीं मिला
⁠वी मुरलीधरन पराजित
मीनाक्षी लेखी टिकट नहीं मिला

मंत्रिमंडल में एनडीए पर ज्यादा फोकस

इस बार के चुनाव में बीजेपी बहुमत से दूर रह गई है. हालांकि, एनडीए जरूर 272 के आंकड़े को पार करने में सफल रहा है. ऐसे में इस बार के सरकार में एनडीए के घटक दलों की भूमिका अहम हो गई है. यही वजह है कि बीजेपी कई ऐसे नेता जो चुनाव जीते हैं फिर भी उन्हें मंत्री पद से दूर रखा जा रहा है.

मोदी सरकार का हिस्सा हो सकते हैं ये चेहरे

माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया, भूपेंद्र यादव, प्रह्लाद जोशी, गिरिराज सिंह, अर्जुन राम मेघवाल, जितेंद्र सिंह, एसपीएस बघेल, अन्नपूर्णा देवी, वीरेंद्र कुमार, पंकज चौधरी, शोभा करंदलाजे, कृष्ण पाल गुर्जर और एल मुरुगन भी मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. बीजेपी के जी किशन रेड्डी, सुकांत मजूमदार, राव इंद्रजीत सिंह, नित्यानंद राय और भागीरथ चौधरी के भी नई सरकार का हिस्सा होने की संभावना है. यूपी से बीजेपी सांसद जितिन प्रसाद और महाराष्ट्र से रक्षा खडसे भी नई सरकार का हिस्सा हो सकते हैं.

The post इन नये चेहरों को मिल सकती है मोदी 3.0 कैबिनेट में जगह,अनुराग ठाकुर से स्मृति ईरानी तक इन दिग्गजों का कटा पत्ता appeared first on bignews.

[#content_wordai] 

Share This Article
Leave a comment